Search Remedies Here...

यदि नाखून चबाने की आदत है तो छोड़ दें, वरना हो सकती हैं ये जानलेवा बीमारियां

If you chew nails, leave this habit today either you will lost your life.

नाखून चबाना एक लत है। वैज्ञानिक भाषा में इसे ओनिकोफागिया भी कहते हैं। यह लोगों को लगने वाली आम सी लत है और किसी भी उम्र के व्यक्ति को यह लत लग सकती है। नाखून चबाने की लत क्यों लगती है इसके पीछे कई लोगों के अलग-अलग कारण हैं। जानकारों का मनना है कि यह लत तनाव की वजह से लग जाती है।

एक गणना के अनुसार करीब 30 प्रतिशत बच्चे, 45 प्रतिशत युवा, और 5 प्रतिशत मध्य उम्र के व्यक्तियों को नाखून चबाने की आदत है। हमें नाखून चबाने को बचपन से ही मना किया जाता है, जिसका सीधा मतलब है कि नाखून चबाने की लत अच्छी तो नहीं है। फिर भी हम जब भी टेंशन में होते हैं तो नाखून चबाना शुरू कर देते हैं।

दांतों की समस्या
नाखून चबाने से सीधे-सीधे दांतों पर असर पड़ता है। नाखूनों में कई तरह के बैक्टीरिया होते हैं। जब हम दांतों से नाखूनों को चबाते हैं तो वो बैक्टीरिया दांतों में भी लग जाते हैं। लगातार ऐसा करने से दांत कमजोर हो जाते हैं और कभी-कभी तो गलने भी लगते हैं।

ऊंगलियों में पड़ जाती हैं सूजन
नाखून ज़्यादा चबाने से ऊँगली और स्किन पर भी गहरा असर पड़ता है। लगातार नाखून चबाते रहने से कुछ ऐसी सूजन भी हो सकती है।

दाद का है खतरा
हालाँकि यह बहुत कम होता है लेकिन लागातार नाखून चबाने से होंठो पर ऐसे दाद भी हो सकते हैं।

मुँह की दुर्गन्ध
नाखून चबाने के कारण मुँह से दुर्गन्ध भी आती है, जो आपको और आपसे बात करने वालों को भी परेशान करती है।

हाथों में रूखापन
नाखून चबाने से इनमें रूखापन भी हो जाता है। इस आदत पर नियंत्रण न किया जाये तो आगे चलकर रूखापन बीमारी का रूप भी ले सकता है।

पैर के नाखून चबाना
ज़्यादातर बच्चे पैर के नाखून चबाने की कोशिश करते हैं। पैर के नाखूनों में हाथों के नाखूनों से दोगुना ज़्यादा बैक्टीरिया होते हैं। अगर लगातार ऐसा किया जाये तो यह जानलेवा बीमारी का कारण भी बन सकती है।

नेल पेंट में होता है जहर
ज़्यादातर लड़कियां नेल पेंट का इस्तेमाल करती हैं, कभी-कभी नेल पेंट जहरीले भी साबित हो सकते हैं। यदि आपको नाखून चबाने की आदत है और आप नेल पेंट भी लगाती हैं तो आपको अपनी आदत बदलने की जरुरत है।