Jai Mata Di!

Recent Posts

कामशास्त्र के अनुसार जिन स्त्रियों में होते हैं ये गुण उनके पति होते हैं बहुत ही भाग्यशाली

हमारे देश में कामशास्त्र और कामशूत्र के बारे लोगों में लेकर बहुत ही गलत धारणा बनी हुई है। लोग इसे एक अश्लील ग्रन्थ मानते हैं, जबकि सच्चाई इसके उलट है। इसमें शादी- शुदा जीवन को संवारने के लिए बहुत सारी बातें बताई गयी हैं, जिनका पालन करने वाला व्यक्ति हमेशा खुश रहता है। कामशास्त्र एक प्राचीन भारतीय साहित्य है जो कामदेव अथवा इच्छा के ज्ञान से सम्बंधित होता है, वहीँ कामशूत्र व्यावहारिक अभिविन्यास और स्पष्टीकरण से सम्बंधित है।

कामशूत्र से अलग कामशास्त्र एक वैदिक परम्परा की तरह है, जिससे व्यक्ति के चेहरे की चमक, उसके पुरे शरीर का विश्लेषण करके उसका अध्ययन किया जाता है। इसी से व्यक्ति और उसके साथी का भी विश्लेषण किया जाता है और यह पता लगाया जाता है कि दोनों के बीच कैसा सम्बन्ध होगा। आज हम आपको कुछ ऐसी महिलाओं के बारे में बताएँगे जो कामशास्त्र के अनुसार शादी करने के लिए बिलकुल सही होती हैं। इनसे शादी करने वाला व्यक्ति बहुत ही खुशहाल रहता है।
  1.     जो महिला अपने होने वाले पति के बराबरी की होती है अर्थात दोनों एक सामान घरों से होते हैं तो रिश्ता अच्छा माना जाता है। वह अच्छे, ऊँचे और शालीन घर की होती है तो घर में खुशियाँ ही खुशियाँ आती हैं।
  2.     जो महिला अच्छी शिक्षा अर्जित की हुई हो, अगर उससे शादी होती है तो जीवन बेहतर बन जाता है। महिला को देश और समाज के बारे में अच्छे से जानकारी होनी चाहिए। अगर ऐसा होता है तो यह निश्चित हो जाता है कि परिवार में खुशियाँ ही आएगी।
  3.     वह महिला जो ज्यादा बुद्धिमान होती है और उसे यह पता होता है कि छोटों और बड़ों से कैसा व्यवहार करना चाहिए। महिला छोटों को प्यार और बड़ों को आदर देने वाली होती है तो जीवन सुखी हो जाता है।
  4.     महिला हर धर्म के प्रति सम्मान की भावना रखने वाली हों एवं अपने सभी कर्तव्यों का पालन पूरी निष्ठा के साथ करती हो।
  5.     जो महिला मितव्ययी हो और पैसे का सही इस्तेमाल करना जानती हो। वह परिवार के मुश्किल समय में उनका साथ दे। जिसकी आवाज मधुर हो और अपने पति के प्रति समर्पित हो, ऐसी महिलायें हर किसी के लिए भाग्य ही लाती हैं।
  6.     वह महिला जो अपने परिवार के हर कष्ट को समझते हुए उन्हें हर बुराई से बचाती हो और एक चतुर मंत्री की तरह उन्हें हर समय अच्छे सलाह देती हो।
  7.     जो महिलाएँ अपने घर में अकेली नहीं होती हैं अर्थात उनके भाई बहन होते हैं उनमे सहनशक्ति होती है। वह बच्चा हो जाने के बाद उनका ढंग से ख़याल रखने में सक्षम होती हैं।
  8.     जिन महिलाओं को इस बात का अच्छे से ज्ञान होता है कि प्यार और निजी जीवन को कैसे संभाला जाए, वह हर जगह ही सम्मान की नजर से देखीं जाती हैं।
  9.     जिन महिलाओं के अन्दर यह आदत होती है कि वह अपने अहं को त्यागकर किसी मुद्दे पर अपने से बड़े की सलाह लें, और उसका इस्तेमाल अपने परिवार की भलाई के लिए करें। वह महिला एक आदर्श महिला होती है।
  10.     जिस महिला को स्वादिष्ट खाना बनाना आता हो और वह कभी किसी को भूखा नहीं छोड़ती हो।
  11.     जो महिला किसी भी दुःख के समय में अपने परिवार के साथ होती है, और प्यार और भरोसे की बदौलत उन्हें हर मुश्किल से बाहर ले आये। वह महिला हर परिवार के लिए अच्छी होती है।
***