मात्र 3 दिनों में बढ़े हुए क्रिएटिनिन को सही कर सकता है यह रामबाण घरेलु नुस्खा ।

क्रिएटिनिन बढ़ना किडनी रोगों का संकेत है। अधिक बढ़ जाने पर किडनी की नियमित डायलिसिस करवानी पड़ती है। अगर फिर भी आराम ना आये तो किडनी ट्रांसप्लांट करवाने तक की नौबत आ जाती है। ऐसे में नीम और पीपल का ये प्रयोग बहुत कारगर है। एक हफ्ते में बढ़ा हुआ क्रिएटिनिन सही हो सकता है। आइये जाने ये प्रयोग।

आवश्यक सामग्री।

नीम की छाल।
पीपल की छाल।

3 गिलास पानी में 10 ग्राम नीम की छाल और 10 ग्राम पीपल की छाल लेकर आधा रहने तक उबाल कर काढ़ा बना लें। इस काढ़े को दिन में 3-4 भाग में बाँट कर सेवन करते रहें। इस प्रयोग से मात्र सात दिन क्रिएटिनिन का स्तर व्यवस्थित हो जाता है या प्रयाप्त लेवल तक आ जाता है। और जब ये काढ़ा लेना है तो एक तो इसको दोबारा गर्म नहीं करना, किसी ठंडी जगह पर रख दीजिये, और काढ़े सम्बंधित कुछ हिदायतें ज़रूर पढियेगा अन्यथा काढ़ा फायदे की जगह नुक्सान करेगा.

ये प्रयोग करने से पहले पाठकों से अनुरोध है के वो केवल इसी प्रयोग के सहारे अपनी दवाएं बंद ना करें, इस प्रयोग को उन दवाओं के साथ चालु रखें. और सबसे बड़ी बात ये है के रोगी को ये प्रयोग करवाने से पहले अगर हो सके तो पंच कर्म करवा लें अगर वो नहीं करवा सकते तो तीन चार दिन तक रोगी को अनाज वगैरह बंद करवा कर लिक्विड डाइट पर रखें और एलो वेरा संतरे, मौसमी, गाजर, मूली, और मौसमी फलों और इसके जूस पर निर्धारित दिनचर्या का पालन करवाएं और रोगी के शरीर का Ph Level सही करें. जिसका मतलब है के रोगी को Alkaline चीजें सेवन करने के लिए दीजिये.

Alkaline का मुख्य स्त्रोत है जैसे लौकी, पत्तागोभी, कद्दू, तुलसी, गौ मूत्र इत्यादि. तो रोगी को इन सबका सेवन यथा योग्य शक्ति करवाते रहें, जिस से रोगी का शरीर Alkaline हो जाए, और Alkaline होने पर रोगी का रोग स्वतः ही चला जाता है.
***