Jai Mata Di!

Recent Posts

चुप चाप इतने चने की दाल घर में यहाँ रख दे फिर देखे कभी घर में दुःख नहीं आएगा

चना रबी ऋतु में उगाई जाने वाली महत्वपूर्ण दलहन फसल है। चने का उपयोग इसके दाने व दाने से बनाई गई दाल के रूप में खाने के लिए किया जाता है। इसके दानों को पीसकर बेसन बनाया जाता है, जिससे अनेक प्रकार के…

हरी अवस्था में चने के दानों व पौधों का उपयोग सब्जी के रूप में और इसको सेंककर खाने के रूप में भी किया है। हरी अवस्था में इसे झोड़ कहते हैं। सूखने के बाद चने के भुगड़े (भुने हुए चने) और चने का सत्तू…

देसी चने या काले चने भूरे रंग के छोटे चने होते हैं, जबकि काबुली चने बड़े होते हैं। चने में कार्बोहाइड्रेट, प्रोटीन, नमी, चिकनाई, रेशे, कैल्शियम, आयरन व विटामिन्स पाए जाते हैं।

आज हम आपको चने के कुछ ज्योतिषीय टोटके या उपाय बताएंगे जिसके माध्यम से आप अपने जीवन के संकट दूर करके सुख और समृद्धि हासिल कर सकते हैं।

पति को रास्ते पर लाने हेतु : आपके पति यदि किसी अन्य महिला के चक्कर में आपका अपमान करते हैं तो किसी भी गुरुवार को 300 ग्राम बेसन के लड्डू, आटे के दो पेड़े, तीन केले व इतनी ही चने की गीली दाल लेकर उस गाय को खिलाएं जो अपने बछड़े को दूध पिला रही हो। उसे खिलाकर यह निवेदन करें की हे मां, मैंने आपके बच्चे को फल दिया आप मेरे बच्चे को फल देना। कुछ ही दिन में आपके पति रस्ते में आ जाएंगे।
***